आज मोटेरा में पिंक बाल से भिड़ेंगी भारत इंग्लैंड की टीमें।

आज मोटेरा में पिंक बाल से भिड़ेंगी भारत इंग्लैंड की टीमें

अरविन्द तिवारी की रिपोर्ट

अहमदाबाद — भारत और इंग्लैंड के बीच जारी चार मैचों की टेस्ट सीरीज का तीसरा टेस्ट मैच अहमदाबाद के सरदार पटेल क्रिकेट स्टेडियम मोटेरा में आज से भारतीय समयानुसार दोपहर 02:30 बजे से खेला जायेगा जिसका टास दोपहर दो बजे होगा। यह मैच 24 फरवरी से 28 फरवरी तक चलेगा जो कि डे-नाइट होगा जिसमें पिंक बाल का उपयोग किया जायेगा। भारत को पिंक बाल से खेलने का ज्यादा अनुभव नहीं है और उसने केवल दो मैच खेले हैं। भारत में यह कुल दूसरा पिंक बाल टेस्ट होगा जबकि ओवलआल तीसरा होगा। भारत ने एक पिंक बाल टेस्ट आस्ट्रेलिया में भी खेला है जहां टीम को हार का सामना करना पड़ा था। भारत ने इससे पहले अपने घर में बांग्लादेश के खिलाफ कोलकाता के ईडन गार्डंस में अपना पहला डे नाइट टेस्ट मैच खेला था। अहमदाबाद में होने वाले इस मैच का टेलीकास्ट स्टार स्पोर्ट्स नेटवर्क पर होगा , इसकी लाइव स्ट्रीमिंग जियो टीवी और एयरटेल टीवी पर देखा जा सकेगा। शुरुआती दोनों टेस्ट चेन्नई के एम०ए० चिदंबरम स्टेडियम में खेला गया था। वहीं तीसरा टेस्ट मोटेरा के सरदार पटेल स्टेडियम में खेला जायेगा , इस मैच में तेज गेंदबाजों का अहम रोल रहेगा जबकि चेन्नई में खेले गये पहले दोनो टेस्ट मैचों में स्पिन गेंदबाजों का बोलबाला था। इस स्टेडियम में दर्शकों की क्षमता एक लाख 20 हजार है जो दुनियां में किसी भी क्रिकेट स्टेडियम से सर्वाधिक है। प्रशासन ने इस मुकाबले के लिये स्टेडियम में 50 फीसदी दर्शकों को शामिल होने की मंजूरी दी है। इंग्लैंड को यहां दो टेस्ट और पांच टी20 मुकाबले भी खेलने हैं।शुरूआती टेस्ट में इंग्लैंड ने भारत को 227 रनों से हराकर सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली थी, लेकिन मेजबान भारत ने दूसरा टेस्ट 317 रनों से जीतकर अपमानजनक हार का बदला लेते हुये सीरीज में 1-1 की बराबरी कर ली है। अब तीसरा टेस्ट निर्णायक है, जो भी टीम यह जीतेगी वह सीरीज में 2-1 की अजेय बढ़त हासिल कर लेगी। बताते चलें कि भारत और इंग्लैंड के तेज गेंदबाजों का पिंक बॉल टेस्ट रिकॉर्ड एक जैसा ही है। भारतीय टीम के तेज गेंदबाजों ने पिंक बॉल से खेले गये दो टेस्ट मैच में 24 विकेट लिये हैं , जबकि इंग्लैंड के तेज गेंदबाजों के खाते में तीन टेस्ट मैच में 39 विकेट हैं। पिंक बॉल टेस्ट मैच की सबसे बड़ी खासियत है कि इस प्रयोग के तहत खेले गये सभी मैच का नतीजा निकला है यानि पिंक बॉल टेस्ट मैच कभी ड्रॉ नहीं हुआ है।

आधे मैच ड्रा होने का रिकॉर्ड

इस मैच में जीत का सेहरा किसके सिर बंधेगा, यह तो अगले पांच दिनों में पता चल सकेगा मगर एक-दूसरे को हराने के लिये दोनों टीमों को काफी मेहनत करनी होगी। इसकी वजह है मैदान का वो रिकाॅर्ड, जिसमें ड्रा मैचों की संख्या काफी ज्यादा है। बताते चलें कि मोटेरा में अभी तक जितने भी टेस्ट खेले गये, उसमें आधे मैच ड्रा रहे हैं। क्रिकइन्फो पर उपलब्ध डेटा के मुताबिक, मोटेरा स्टेडियम में पहला टेस्ट वर्ष 1983 में खेला गया था। पिछले 38 सालों में यहां कुल 12 टेस्ट मैच आयोजित हुये। जिसमें चार में भारत को जीत मिली और दो मुकाबले टीम इंडिया ने गंवा दिये। वहीं छह मैच ड्रा रहे। वर्ष 1999 से लेकर अब तक आठ टेस्ट यहां खेले गये जिसमें पांच मैच बेनतीजा रहे। वहीं आखिरी तीन मैचों में से दो मैच ड्रा पर छूटे।

मोटेरा स्टेडियम की खासियतें

टीम इंडिया और इंग्लैंड के बीच अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में खेला जाने वाला तीसरा मुकाबला दो चीजों की वजह से बेहद खास है. पहला कि ये भारत और इंग्लैंड के बीच पहला पिंक बॉल टेस्ट होगा और दूसरा यह स्टेडियम दुनियां का सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम है जिसे देखकर खिलाड़ी भी हैरान रह गये हैं।

दुनियां का सबसे बड़ा स्टेडियम

अहमदाबाद का सरदार पटेल स्टेडियम दुनियां का सबसे बड़ा स्टेडियम है। वैसे तो यह स्टेडियम कई साल पुराना है लेकिन इसे नई तरीके से बनाया गया है। इसी स्टेडियम में पिछले साल अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का आगमन हुआ था। इसमें एक साथ एक लाख 10 हजार दर्शक मैच देख सकते हैं।
अहमदाबाद के इस स्टेडियम में छह साल के लंबे अंतराल के बाद मैच आयोजित किया जा रहा है।

सात सौ करोड़ की लागत से निर्मित

अहमदाबाद का मोटेरा स्टेडियम 700 करोड़ रुपये से ज्यादा की लागत से बना है। इसमें एक लाख 10 हजार दर्शकों के बैठने की क्षमता है। इस स्टेडियम को मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड स्टेडियम बनाने वाली कंपनी द्वारा ही डिजाइन किया गया है। इसमें 76 कॉरपोरेट बॉक्स , चार ड्रेसिंग रूम के अलावा तीन प्रैक्टिस ग्राउंड भी हैं। इस स्टेडियम में इनडोर क्रिकेट एकेडमी के अलावा स्वीमिंग पूल , स्क्वाश और टेबल टेनिस खेलने की सुविधायें भी हैं। इस स्टेडियम की लाइट्स भी बेहद अलग हैं , यहां फ्लड लाइट की जगह एलईडी लाइट्स लगी हैं जो कि सोलर एनर्जी से जलती हैं , इसके अलावा स्टेडियम में थ्रीडी थिएटर भी है।

मोटेरा का इतिहास

वर्ष 1982 में साबरमती नदी के तट पर अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम बनाने के लिये गुजरात क्रिकेट एसोसिएशन को जमीन दी गई, जिस पर मोटेरा स्टेडियम का निर्माण हुआ था। वर्ष 2016 में इस स्टेडियम का पुर्ननिर्माण किया गया और अब यह दुनियां का सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम है , जिसे सरदार पटेल स्टेडियम के नाम से जाना जाता है।

अनेकों उपलब्धियों का गवाह

अहमदाबाद का सरदार पटेल स्टेडियम वह स्थल हैं, जो भारतीय क्रिकेट से जुड़ी कई उपलब्धियों का गवाह रहा है। सुनील गावस्कर ने यहीं पर 10,000 टेस्ट रन पूरे किये तो कपिल देव ने यहीं पर 83 रन देकर नौ विकेट लेकर अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया और बाद में रिचर्ड हेडली का सर्वाधिक टेस्ट विकेट का तत्कालीन रिकॉर्ड भी इसी मैदान पर तोड़ा।

Share This News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •