आयोग का सचिव बदलने के साथ ही परीक्षा नियंत्रक  की भी नियुक्ति कर दी।

न्यूज होम लाइव नेटवर्क।

देहरादून: उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग (UKSSSC) को लेकर शासन ने बड़े फैसले लिए हैं। आयोग का सचिव बदलने के साथ ही परीक्षा नियंत्रक  की भी नियुक्ति कर दी गई है। पीसीएस अधिकारी शालिनी नेगी को यह जिम्मेदारी दी गई है। इससे पहले वह डिप्टी कलेक्टर उत्तरकाशी थी।

बता दें कि, उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग (UKSSSC) में लंबे समय से परीक्षा नियंत्रक की नियुक्ति नहीं हुई थी। पिछले चार भर्ती एग्जाम बिना परीक्षा नियंत्रक की नियुक्ति के ही संपन्न हुए हैं। जिसके चलते सचिव ही इस जिम्मेदारी को भी संभाल रहे थे। आयोग द्वारा शासन से परीक्षा नियंत्रक की तैनाती की मांग की जा रही थी। गौर हो कि, आयोग द्वारा सभी भर्ती परीक्षाओं की गोपनीयता की प्रक्रिया, गोपनीय सामग्री का ट्रांपोर्टेशन का मुख्य दायित्व परीक्षा नियंत्रक का ही होता है। इस तरह भर्ती परीक्षाओं की गोपनीयता और सुचिता को लेकर परीक्षा नियंत्रक की भूमिका महत्वपूर्ण हो जाती है।

वहीं अब परीक्षा नियंत्रक की नियुक्ति से परीक्षाओं में तेजी के साथ ही पारदर्शिता की उम्मीद जताई जा रही है। खास तौर पर स्नातक स्तरीय भर्ती में पेपर लीक के बाद से ही इस नियुक्ति की अधिक महता बढ़ गई थी। UKSSSC exam controller के साथ कुल 3 PCS ट्रांसफर शासन ने इसके अलावा दो और पीसीएस अधिकारियों के कार्यक्षेत्र में बदलाव किया है।

पीसीएस देवानंद और PCS जितेंद्र कुमार को डिप्टी कलेक्टर उत्तरकाशी की जिम्मेदारी दी गई है।

इससे पहले पीसीएस देवानंद प्रभारी उप राजस्व आयुक्त (भूमि व्यवस्था) राजस्व परिषद देहरादून की जिम्मेदारी संभाल रहे थे, उन्हें इस पद से अवमुक्त कर दिया गया है।

वही पीसीएस जितेंद्र कुमार उप मुख्य निर्वाचन अधिकारी उत्तराखंड निदेशक (मार्केटिंग) उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद तथा एसीईओ उत्तराखंड सिविल एविएशन डेवलपमेंट अथॉरिटी (UCADA) की जिम्मेदारी संभाल रहे थे, उन्हें इस पद से अब अवमुक्त कर दिया गया है।

 

Share This News