तीन राफेल का दूसरी किश्त पहुँची भारत

तीन राफेल का दूसरी किश्त पहुँचा भारत

अरविन्द तिवारी की रिपोर्ट

जामनगर (गुजरात) – चीन से सीमा विवाद के बाद भारतीय वायु सेना की ताकत लगातार बढ़ती जा रही है। दुश्मनों को परास्त करने वाला राफेल जैसे शक्तिशाली लड़ाकू विमानों की संख्या में लगातार हो रही बढ़ोत्तरी भारत की अपनी सैन्य ताकत बढ़ाने हेतु प्रतिबद्धता का प्रमाण है। इसी कड़ी में फ्राँस इस्ट्रेस से उड़ान भरकर बिना कहीं रूके अबाध गति से यात्रा करते हुये तीन राफेल लड़ाकू विमान बुधवार रात गुजरात के जामनगर पहुँचे। यात्रा के दौरान उन्हें फ्राँसीसी और भारतीय टैंकरों द्वारा ईंधन दिया गया। इन तीनों लड़ाकू विमानों को यहाँ से अम्बाला पहुँचाने की जानकारी मिली है। इन विमानों के भारत पहुँचते ही रक्षांत्री राजनाथ सिंह ने वायुसेना को बधाई दी है।
गौरतलब है कि भारत ने फ्रांँस के साथ वर्ष 2016 में तकरीबन 59 हजार करोड रुपये की डील फाइनल की थी , जिसके तहत भारत को 36 राफेल विमान मिलने हैं। इसी कड़ी में वायु सेना को फ्रांँस की तरफ से राफेल की आपूर्ति किए जाने के साथ ही अलग-अलग मैच में राफेल उड़ाने के लिये भारतीय वायुसेना के पायलटों को सांस में प्रशिक्षित किया जा रहा है। डील फाइनल करते समय इस डील को लेकर कांग्रेस ने सरकार पर जमकर निशाना साधा था।आज तीन राफेल लड़ाकू विमानों के पहुंँचने के साथ ही भारत में राफेल विमानों की संख्या आठ हो चुकी है। इससे पहले पांँच राफेल 28 जुलाई को भारत पहुंँचा था जिसे 10 सितंबर को भारतीय वायुसेना में शामिल किया गया। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार जनवरी में तीन , मार्च में तीन और अप्रैल में सात लड़ाकू विमानों के मिलने के साथ ही अप्रैल 2021 तक भारत को कुल 21 लड़ाकू विमान और दिसंबर 2021 तक सभी 36 लड़ाकू विमानों के मिलने की संभावना है।

Share This News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •