निचले क्रम के बल्लेबाजों के संघर्ष से मैच हुआ ड्रा

निचले क्रम के बल्लेबाजों के संघर्ष से मैच हुआ ड्रा

अरविन्द तिवारी की रिपोर्ट

सिडनी (आस्ट्रेलिया) – भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चार टेस्ट मैंचों की बार्डर- गावस्कर सीरीज का सिडनी टेस्ट पांँचवें और आखिरी दिन ड्रॉ हो गया। भारतीय बल्लेबाजों ने आखिरी दिन संघर्ष भरी बल्लेबाजी की , इस रोमांचक मैच में हनुमा बिहारी और आश्विन ने कंगारू गेंदबाजों को परेशान करते हुये विकेट के लिये खूब तरसाया । सिडनी टेस्ट को ड्रा कराने में हनुमा बिहारी और आश्विन का अहम योगदान रहा। बिहारी 161 गेंदों पर 23 रन बनाकर नाबाद रहे जबकि आश्विन ने 128 गेंदों में 39 रन बनाये और नाबाद पवेलियन लौटे। विवादों से गिरे सिडनी टेस्ट मैच में इस ड्रॉ में भी भारत की जीत है। ऑस्ट्रेलिया के 407 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम इंडिया को रोहित शर्मा (52) ने बेहतरीन शुरुआत दी और इसके बाद ऋषभ पंत और चेतेश्वर पुजारा ने भारत की जीत की उम्मीदें जगा दी। पुजारा और ऋषभ पंत ने मिलकर 148 रनों की पार्टनरशिप की थी। लेकिन ऋषभ पंत महज तीन रन से अपने तीसरे टेस्ट शतक से चूक गये जबकि पुजारा 77 रन बनाकर हेजलवुड की गेंद पर बोल्ड हो गये। इसके बाद अश्विन और हनुमा विहारी ने मिलकर मैच ड्रॉ करा दिया। टीम इंडिया को चौथी पारी में 407 रन का टारगेट मिला जिसके बदले में भारत ने 05 विकेट खोकर 334 रन बनाये , चौथी पारी में रोहित शर्मा, चेतेश्वर पुजारा और रिषभ पंत ने जबरदस्त पारियांँ खेलीं। रोहित शर्मा ने जहां 50 रन बनाये वहीं पुजारा ने 77 रन की पारी खेली। ऋषभ पंत शतक से चूक गये , उन्होंने 97 रन बनाये। खेल की समाप्ति पर हनुमा विहारी और आर०अश्विन नाबाद लौटे। इसे भारतीय टीम की जीत ही कहा जा रहा है क्योंकि टीम इंडिया के कई खिलाड़ी घायल हैं। साथ ही टीम विराट कोहली के बिना खेल रही है। अभी चार मैचों की सीरीज 1-1 से बराबर है।
गौरतलब है कि ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया था। मेजबान टीम ने पहली पारी में 338 रन बनाये थे, जिसके जवाब में भारतीय टीम की पहली पारी 244 रन पर सिमट चुकी थी। इसके बाद ऑस्ट्रेलिया ने अपनी दूसरी पारी 06 विकेट के नुकसान पर 312 रन पर घोषित कर दी थी। इस तरह टीम इंडिया को जीत के लिये 407 रन का टारगेट मिला था। आखिरी बार भारत ने विराट कोहली की कप्तानी में यहांँ 03 से 07 जनवरी 2019 में टेस्ट मैच ड्रॉ कराया था। भारत टेस्ट सीरीज में दबावमुक्त है , ऐसे में भारत अगर ब्रिस्बेन में चौथा टेस्ट ड्रॉ भी करा लेता है, तो वह ऑस्ट्रेलिया की धरती पर दूसरी बार टेस्ट सीरीज जीत लेगा।

आखिरी मुकाबला 15 जनवरी से

टेस्ट सीरीज की अंतिम मुकाबला 15 जनवरी से ब्रिसबेन में खेला जायेगा।बता दें कि ब्रिसबेन में गाबा की विकेट पर ऑस्ट्रेलिया का रिकॉर्ड काफी ऐतिहासिक रहा है। इस मैदान पर वो साल 1988 के बाद से कभी नहीं हारे हैं। ऐसे में टीम इंडिया के लिये गाबा एक बड़ी चुनौती साबित होने वाला है।

Share This News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •