बारात आने से पहले फरार हुई दुल्हन ने मंदिर में प्रेमी संग रचाई शादी।

एनएचएल नेटवर्क।

बागेश्वर जिले के एक गांव में युवती की शादी थी लेकिन शादी से कुछ घंटे पहले ही दुल्हन प्रेमी संग फरार हो गई। आज दुल्हन से सोमेश्वर के शिव मंदिर में अपने प्रेमी संग शादी रचा ली। कई लोग इस विवाह के गवाह बने। शादी के बाद दोनों अपने गांव डोबा लौट गये। मंदिर में लडक़े के पक्ष वाले मौजूद रहे। यह शादी सोमेश्वर से लेकर बागेश्वर तक चर्चा का विषय बनी रही।

शादी के दिन प्रेमी संग हुई थी फरार

गौरतलब है कि विगत 16 अप्रैल को बागेश्वर जिले के सात गांव में शादी की तैयारी चल रही थी। इससे पहले दुल्हन ने महिला संगीत में जमकर ठुमके भी लगाये। घर में सभी रिश्तेदार शादी की तैयारियों में जुटे थे। तभी अचानक दुल्हन अपने प्रेमी संग फरार हो गई। दुल्हन के फरार होने से शादी में हडक़ंप मच गया। लोकलाज के भय से परिजनों ने आनन-फानन में छोटी बेटी शादी तय कर दी। जैसे ही फेरों की तैयारी चल रही थी तो वन स्टाप सेंटर व पुलिस टीम मौके पर पहुंच गई। जांच में दुल्हन नाबालिग निकली। वन स्टाप सेंटर व पुलिस ने शादी रुकवा दी और बालिग होने पर ही शादी कराने का लिखितनामा ले लिया।

शिव मंदिर में रचाई शादी

भागी दुल्हन ने मंगलवार को हिंदू रीति-रिवाज के साथ सोमेश्वर के खडक़ेश्वर शिव मंदिर में डोबा गांव निवासी अपने प्रेमी बलवंत सिंह टंगडिय़ा के साथ शादी करली। शादी को को आचार्य हरीश चंद्र लोहनी ने संपन्न कराया, जबकि दया देवी और ध्यान सिंह ने कन्यादान की रस्म अदा की। दूल्हा की ओर से हरीश सिंह टंगडिय़ा, मनोज टंगडिय़ा, मोहन सिंह रावत तथा भूलगांव के ग्राम प्रधान सुरेंद्र सिंह रावत मौजूद रहे। दूल्हा बलवंत सिंह ने बताया कि पिछले 6 वर्षों से एक-दूसरे से प्यार करते हैं। प्रेमिका के घर वाले विवाह के लिए सहमत नहीं हो रहे थे। घरवाले कहीं और शादी करा रहे थे इसलिए वह घर से भाग गई। शादी के बाद दोनों डोबा गांव को चले गए

Share This News