भव्या लाल को नासा ने बनाया कार्यकारी मुखिया।

भव्या लाल को नासा ने बनाया कार्यकारी मुखिया

भारत का गौरव भारतवंशी नागरिक : विशेष रिपोर्ट

 

अरविन्द तिवारी की रिपोर्ट

वाशिंगटन (अमेरिका – हिंदुस्तानी प्रतिभा विश्व भर में अपने उल्लेखनीय कार्यों की डंका बजाने में सफलता हासिल कर रही हैँ। अब भारतीयों के खाते में नासा की कार्यकारी प्रमुख नियुक्त होने की एक और उपलब्धि अब दर्ज हो गई है।भारतीय मूल की भव्या लाल को नासा द्वारा अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा का कार्यकारी प्रमुख नियुक्त किया गया है। भव्या ने अमेरिका में कई अहम पदों पर काम किया है। इस समय भव्या लाल अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बिडेन द्वारा नासा में बदलाव संबंधी समीक्षा दल की सदस्या हैं और बाइडेन प्रशासन के अंतर्गत एजेंसी में परिवर्तन संबंधी कार्यों को देख रही हैं। नासा ने एक बयान जारी कर कहा है कि भव्या को इंजीनियरिंग और स्पेस टेक्नोलॉजी में महारत हासिल है। इससे नासा को काफी लाभ मिलेगा , उनके पास अपार अनुभव है। इससे पहले भव्या लाल राष्ट्रपति जो बिडेन के प्रेसीडेंशियल ट्रांजिशन एजेंसी रिव्यू टीम का हिस्सा भी रह चुकी हैं। भव्या ने वर्ष 2005 से 2020 तक इंस्टीट्यूट फॉर डिफेंस एनालिसिस साइंस एंड टेक्नोलॉजी पॉलिसी इंस्टीट्यूट में रिसर्च स्टाफ भी रह चुकी हैं। उन्होंने फेडरल स्पेस ओरिएंटेड ऑर्गेनाइजेशन जैसे नासा, डिपार्टमेंट ऑफ डिफेंस और इंटेलिजेंस कम्यूनिटी के लिये भी काम किया है। इसके अलावा वे व्हाइट हाउस ऑफिस ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी पॉलिसी और नेशनल स्पेस काउंसिल की विश्लेषण टीम की प्रमुख भी रही हैं। वे लगातार दो बार नेशनल ओशियानिक एंड एटमॉसफियरिक एडमिनिस्ट्रेशन की फेडरल एडवाइजरी कमेटी की सदस्य रह चुकी है। साथ ही वे नासा कॉमर्शियल रिमोट सेंसिंग की एक्सर्टनल काउंसिल सदस्य, और इनोवेटिव एडवांस्ड कॉन्सेप्ट्स प्रोग्राम कमेटी की सदस्य भी रही हैं। वे मैस्याचुसेट्स स्थित ग्लोबल पॉलिसी रिसर्च कंस्लटेंसी सेंटर फॉर साइंस एंड टेक्नोल़जी पॉलिसी स्टडीज में निदेशक भी रह चुकी हैं। STPI ज्वाइन करने से पहले भव्या C-STPS LLC की प्रेसीडेंट थी। यह कंपनी साइंस, टेक्नोलॉजी संबंधी नीतियां और रिसर्च को लेकर सलाहकार का काम करती है। भव्या लाल ने परमाणु विज्ञान में मास्टर ऑफ साइंस की डिग्री प्राप्त की है। उन्होंने प्रतिष्ठित मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से टेक्नोलॉजी एंड पॉलिसी में मास्टर ऑफ साइंस की डिग्री ली है। वहीं जॉर्ज वाशिंगटन यूनिवर्सिटी से सार्वजनिक नीति और सार्वजनिक प्रशासन में डॉक्टरेट की उपाधि प्राप्त की है। भव्या पहले से ही नासा से कई प्रोग्रामों के जरिये जुड़ी हुई हैं। वह पहले ही नासा के मशहूर प्रोग्राम इनोवेटिव एडवांस्ड कॉन्सेप्ट्स प्रोग्राम और नासा एडवाइजरी काउंसिल की टेक्नोलॉजी, इनोवेशन एंड इंजीनियरिंग एडवाइजरी कमेटी की एक्सटर्नल काउंसिल मेंबर भी रह चुकी हैं। भव्या ने अपनी बीएससी और एमएससी की डिग्री क्रमशः न्यूक्लियर एनर्जी और टेक्नोलॉजी एंड पॉलिसी में ली है। बताते चलें कि स्पेस सेक्टर में भव्या लाल के कार्यों को देखते हुये उन्हें इंटरनेशनल एकेडमी ऑफ एस्ट्रोनॉटिक्स का सदस्य भी बनाया गया था। इसके अलावा भव्या लाल न्यूक्लियर एंड इमर्जिग टेक्नोलॉजीस इन स्पेस नामक अंतरराष्ट्रीय सालाना सेमिनार की होस्ट रही है। इसके साथ साथ भव्या स्मिथसोनियन नेशनल एयर एंड स्पेस म्यूजियम के साथ भी जुड़ी रही हैं। भव्या न्यूक्लियर इंजीनियरिंग एंड पब्लिक पॉलिसी हॉनर सोसाइटी की भी सदस्य हैं।

Share This News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •