राजस्थान के अलवर में अवैध निर्माण व रास्तों के चौढ़ीकरण के नाम पर एक लगभग तीन सौ साल पुराने ऐतिहासिक मंदिर को बुलडोजर से ढाह दिया।

न्यूज होम लाइव नेटवर्क।

राजस्थान के अलवर में अवैध निर्माण व रास्तों के चौढ़ीकरण के नाम पर एक लगभग तीन सौ साल पुराने ऐतिहासिक मंदिर को बुलडोजर से ढाह दिया गया है। जिसके बाद भाजपा की ओर से जहां भारी विरोध दर्ज किया जा रहा है, वहीं कांग्रेस ने इसके लिए भाजपा को ही जिम्मेदार ठहराया है। मीडिया रिपोर्टस के अनुसार राजस्थान के अलवर जिले में सराय मोहल्ला स्थित शिव मंदिर को बुलडोजर से ढहा दिया गया है। हिंदूवादी संगठनों का आरोप है कि शिवालय पर जूते पहनकर चढ़ा गयाऔर मूर्तियों पर कटर मशीन चलाई गई। इस मामले को लेकर भाजपा नेशनल आईटी सेल प्रमुख अमित मालवीय ने कांग्रेस पर हमला साधते हुए कहा कि हिंदुओं की आस्था को ठेस पहुंचाना ही कांग्रेस का सेक्युलरिज्म है। एक और ट्वीट में मालवीय ने कहा है, ”18 अप्रैल को राजस्थान के राजगढ़ कस्बे में बिना नोटिस प्रशासन ने 85 हिंदुओं के पक्के मकानों और दुकानों पर बुलडोजर चला दिया।”वहीं मामले को लेकर राजस्थान के मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने भाजपा पर झूठ बोलने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि राजगढ़ नगरीय निकाय बोर्ड के चेयरमैन भाजपा के हैं और उन्हीं के इशारे पर मंदिर को तोड़ा गया है। उन्होंने वादा किया है कि अगर कोई कानूनी अड़चन नहीं आई तो मंदिर दोबारा बनवाया जायेगा। जानकारी यह है कि अलवर के राजगढ़ में तीन हिंदू मंदिरों को गिराया गया है, जिसमें यह ऐतिहासिक मंदिर भी है। इस मामले को लेकर तमाम हिंदूवादी संगठन आंदोलन की रणनीति बना रहे हैं।

Share This News