अस्कोट के युवक की गुजरात मे कोरोना से मौत

अस्कोट के युवक की गुजरात मे कोरोना से मौत

न्‍यूज होम लाइव संवाददाता महेश पाल

::: फौन पर जानकारी मिलने के बाद पत्नी बदहवस :::

:::अन्तिम दर्शन के लिऐ तड़प रहे बच्चो का रो-रो कर बुरा हाल ::::

अस्कोट : अस्कोट के देवल निवासी 42 वर्षीय नरी राम गुजरात की एक निजि कंपनी मे पछले पन्द्रह वर्षों से कार्यकरत थे और उनकी पत्नी गीता अपने चार बच्चो के साथ गांव मे रहती है।

पत्नी गीता के अनुसार नरी राम ने अहमदाबाद के किसी नजदीकी अस्पताल मे कोविड वैक्सिन की पहली डोज लगवायी और उसके बाद उन्हें हल्के बुखार की शिकायत होने पर टैस्ट करवाया तो कोराना पाँजेटिव निकले।पाजेटिव आने के बाद नरी राम चार दिनो तक हास्पिटल के चक्कर काटते रहे पर बैड नही मिल पाया पांचवे दिन जब हास्पिटल मे प्रवेश मिला तब तक बहुत देर हो चुकी थी।

कोविड नियमो के अनुसार उनका वही दाह संस्कार किया जा रहा जिस कारण परिवारजन अन्तिम दर्शन तक न कर पाने के लिऐ भी तड़प रहे।

नरी राम की चार संतानो मे सबसे बड़ी बेटी अंजली बीए कर रही है,दिपाली बारहवीं,साक्षी नवीं और साहिल सांतवी कक्षा मे पढ़ाई कर रहे हैं।

बच्चो के शिक्षक रहे राजनारायण धामी ने बताया कि बच्चे बहुत ही होनहार है जो पढाई के साथ खेल कूद व अन्य प्रतियोगिताओ मे भी अव्वल रहते हैं अब एकलौते कमाने वाले के चले जाने के बाद परिवार पर आर्थिक संकट गहरा गया जिससे बच्चो की आगे की पढ़ाई प्रभावित होने की सम्भावना को देखते हुये परिवार को आर्थिक सहायता की जरुरत होगी।

क्षेत्रीय जनता के साथ मिलकर शिक्षक राजनारायण ने परिवार को आर्थिक सहायता के लिऐ सोसियल मीडिया के माध्यम से भी मुहिम चला रखी है।

Share This News