प्रभारी मुखी नगर निगम एवं ग्राम नियोजन शशि मोहन श्रीवास्तव को हटाया।

एनएचएल नेटवर्क।

देहरादून । उत्तराखण्ड अब तक का सबसे सख्त एक्शन, रविवार को मुख्यमंत्री ने खुलवाया सचिवालय और शामत आई अधिकारियों की, प्रभारी मुखी नगर निगम एवं ग्राम नियोजन शशि मोहन श्रीवास्तव को हटा लिया गया।
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गड़बड़ी, लापरवाही समेत कई तरह के आरोपों से घिरे प्रभारी मुख्य नगर एवं ग्राम नियोजक शशि मोहन श्रीवास्तव को हटाकर उनके खिलाफ जांच के आदेश दिए हैं। रविवार की छुट्टी के बावजूद सचिवालय खुलवाकर श्रीवास्तव को अगले आदेश तक के लिए आवास विभाग से संबद्ध कर दिया गया है। अपर सचिव अतर सिंह ने इस संबंध में आदेश जारी किया है। आदेश में वरिष्ठ नगर एवं ग्राम नियोजक शालू थिंड को प्रभारी मुख्य नगर एवं ग्राम नियोजक की जिम्मेदारी सौंपी गई।माना जा रहा है कि कुछ और बड़े अधिकारियों पर सरकार जल्द कार्रवाई कर सकती हैं। मुख्यमंत्री ने व्यवस्थित विकास को लेकर नगर एवं ग्रामीण नियोजक को मास्टर प्लान से लेकर भू परिवर्तन तक की जिम्मेदारी दी थी। इस प्लान से राजधानी से लेकर बदरीनाथ धाम तक विकास कार्यों को धरातल पर उतारा जा रहा है, लेकिन नगर और ग्रामीण नियोजक (टाउन प्लानर) की जिम्मेदारी संभाल रहे शशि मोहन श्रीवास्तव की लगातार शिकायतें मिल रहीं थीं।

Share This News