जन्मदिन पर वृक्षारोपण के साथ प्रकृति संरक्षण का दिया संदेश

जन्मदिन पर वृक्षारोपण के साथ प्रकृति संरक्षण का दिया संदेश

भौतिकता की आंधी व चकाचौध,दिखावे की हौड़, जरूरतों से ज्यादा आडम्बरो ने हमें प्रकृति से धीरे-धीरे दूर कर दिया हैं। समाज यूं ही नही चल रहा होता है कही न कही लोग, घर-परिवार,समूह,संगठन निःस्वार्थ भाव से अपने दैनिक जीवन की क्रियाकलापो में प्रकृति की शामिल करते है। “मैं” को छोड़कर “हम” की यही भावना इन्हें और लोगों से अलग करती है।
कोरोना महामारी के संकट के इस दौर में ग्राम, खेती,राई-आगर, बेरीनाग, पिथोरागढ़ निवासी प्रकृति प्रेमी प्रेम प्रकाश उपाध्याय ‘नेचुरल’ हर अवसर पर प्रकृति संरक्षण का अपना वादा नही भूलते है। अपने नौ साल के बच्चे दकशीष के जन्म दिन पर गांव में सामुहिक होम -यज्ञ का आयोजन कर वृक्षारोपण किया। पैय्या,पीपल,बट, कदली,आवंला,पांगर,बेलपत्री,अखरोट,च्योरा,बोटल -बुरांश,गुड़हल,गुलाब आदि पेड़ो,फूलो का रोपण किया।
गांववासियों ने इस प्रकार की आयजनों पर खुशी जाहिर की और इसे प्ररेणादायक बताया।

Share This News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •