रेसलर प्रतीक तिवारी ने जीत के साथ बढ़ाया छग का मान

रेसलर प्रतीक तिवारी ने जीत के साथ बढ़ाया छग का मान

न्‍यूज होम लाइव संवाददाता अरविन्द तिवारी

जांजगीर चाम्पा — रेसलिंग की दुनियां में कई नेशनल और इंटरनेशनल चैंपियनशिप विजेताओं का दो दिवसीय महामुकाबला फ्यूजन फाईट फेडरेशन दिल्ली मुंगेशपुर मदर काजमी स्कूल में संपन्न हुआ। इस संबंध में विस्तृत जानकारी देते चेन्नई चार्जर्स के कैप्टन द लायन प्रतीक तिवारी (अमोरा , जांजगीर चांपा) ने चर्चा करते हुये अरविन्द तिवारी को बताया कि इस मुकाबले में सभी राज्यों के नामी रेसलर शामिल हुये जिनमें आवेश भोपाल , सिंघम दुबे अंडमान निकोबार और अमित हरियाणा प्रमुख थे। इन दोनों दिनों के मुकाबलों में कुल छह टीमें भाग ली। प्रत्येक टीम में 09 रेसलर के हिसाब से 54 रेसलरों के बीच महामुकाबला हुआ। इन छहों टीमों में गुजरात ग्लेडियर से प्रजापति को कैप्टन एवं मनीष सिंह ( हीरो) को उपकैप्टन , हरियाणा हंटर्स से सुनिल धहिदा को कैप्टन और साहिल सागवान को उपकैप्टन , पंजाब प्रिडेटर्स से सिंग जोसन को कैप्टन एवं हरमन सिंह को उपकैप्टन , दिल्ली डेमोलिशर्स से आवेश कैप्टन एवं बलजीत सिंह को उपकैप्टन , चेन्नई चार्जर्स से प्रतीक तिवारी ( द लायन) कैप्टन एवं अमित कुमार को उपकैप्टन और मुम्बई मैग्नम से आर्या जैड को कैप्टन एवं कृष्णा शुक्ला को उपकैप्टन बनाया गया था। इस पूरे मुकाबले में कुल 09 मैच हुये। प्रतीक द लायन ने बताया कि इस मुकाबले के लिये दिल्ली पहुंचने पर सभी प्रतिभागियों का कोरोना टेस्ट कराया गया और सबको क्वारेंटाईन में रखा गया। इस कड़े मुकाबले के लिये तैयारी के संबंध में पूछे जाने पर छत्तीसगढ़ के इकलौते रेसलर प्रतीक द लायन ने बताया कि वे वहां प्रतिदिन तीन दर्जन अंडा और आधा किलो सोयाबीन बड़ी का सेवन कर रहे थे। इसके अलावा वे प्रतिदिन छह घंटा रिंग में , चार घंटा बाडी फिटनेस में और दो घंटा जीम में समय देते हैं यानि प्रतिदिन बारह घंटा इस मुकाबले में डटकर लड़ने के लिये संघर्ष कर रहे थे। उन्होंने मनीष सिंह ( हीरो) , साहिल सागवान , हरमन सिंह , बलजीत सिंह अमित कुमार और लव के साथ होने वाले मुकाबले को दिलचस्प बताया। उन्होंने आगे बताया कि पहले ही दिन उनके एकल मुकाबले की शुरुआत हरियाणा के रोहित से हुई जिसमें वे (प्रतीक) विजेता रहे , फिर बिहार के लव जोशी , बिहार के नटराज और हरियाणा के रोहित तीनों से उनका एक साथ मुकाबला हुआ जिसमें वे (प्रतीक) पुन: विजेता बनें , इसके बाद हरियाणा के मनीष , लिलीपुट और सुपरब्वाय तीनों से फिर उनका एक साथ मुकाबला हुआ जिसमें भी वे (प्रतीक) पुन: विजेता रहे। इसके बाद दूसरे दिन उनका मुकाबला पंजाब के जितेंद्र , रघु (अमृतसर) ,और विश्वेन्द्र (आगरा) के साथ हुआ जिसमें भी प्रतीक विजेता रहे। इस तरह से तीन- तीन रेसलरों पर एक साथ होने वाले जबरदस्त मुकाबले में भी प्रतीक ने ही बाजी मारी। प्रतीक ने बताया कि इन प्रतियोगिताओं में हाथ- पैर के अलावा टेबल , कुर्सी , स्टीक , सीढ़ी , किल (कांटी) का उपयोग करते हुये मुकाबला हुआ। अब दो माह बाद एफपीएल में विजेता प्रतीक तिवारी को बैल्ट प्रदान किया जायेगा। बताते चलें कि इसके पहले भी प्रतीक तिवारी को दो बार इंटरनेशनल चैंपियनशिप और चार बार हैवीवैट चैम्पियनशिप के अलावा भी रेसलिंग के क्षेत्र में कई अन्य पुरस्कार मिल चुके हैं। प्रतीक ने बताया कि उनके अलावा भी सिंगल मुकाबले में आवेश (भोपाल) , बलजीत (पंजाब) , मनीष राजपूत (दिल्ली) ,जैक (दिल्ली) , नील(दिल्ली) भी विजेता रहे। इसी तरह चार लोगों की एक टीम के साथ हुये मुकाबले में अमित ( हरियाणा) , ओम भास्कर (पंजाब) ,राहुल ( मेरठ) और मास मथुरा – वृंदावन की टीम को विजेता घोषित किया गया। इस प्रतियोगिता के कमेंटेटर कामिन खान और सीईओ मनीष राजपूत थे।

Share This News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •